«

»

Jan
14

मुसूँ कुण प्रेम पाती

Best Harmless Garhwali Humor , Satire, Wit, Sarcasm , Garhwali Vyangya , Garhwali Hasya

मुसूँ कुण प्रेम पाती

पत्र -प्रेषक :::भीष्म कुकरेती

प्रिय मूषकराज !
आशा च कुछ पाणै आस मा स्वतः प्राप्त दुंळ बिटेन सुळ -सुळ थूँथुर भैर गाडिक सुंगणु ह्वेलु , स्पर्श या कन्दूड़ से सुणणै /जाणनै कोशिस करणु ह्वेलि। मि तैं पता च कि त्यार आँख कमजोर हूंदन पर तेरी जीव , तेरी त्वचा , त्यार कन्दूड़ अर नाक आँखूं कमजोर दृष्टि की कमी दूर कर दींदी। अर यूं इन्द्रियुं से तू हर समय कुछ न कुछ खुजणु रौंद। अबि त रात च त अबि बि तू कै कंटर, सामान या बर्तन का तौळ बिटेन थूँथुर निकाळिक भोजन खोज , पाणि खोज , रौणै जगा खोज , कठिनाई अन्वेषण , शत्रु खोज मा लग्युं ह्वेलु या पुरण रस्तौं तैं याद करणु ह्वेलु।
हाँ मि तैं पता च कि तू होशियार छे। असल मा त्वे पर निओफोबिया हूंद याने तू नई चीजुं पर अधिक विश्वास नि करदी मतबल तू नई चीजुं पर खतरा उठाण से बचणु रौंद। तबि त आठ दस दिन ह्वेक बि तू चूहेदानी पुटुक जल्दी से नि फंसदि।
पर यदि तू सेर छे तो मि सवासेर छौं।
मीन त्वैकुण त्वै तैं फंसाणै दवा मतबल त्वै तैं मारणै दवा रुटी पर लगयीं च , रुटि तेरी स्मृति मा च त तीन झट से रुटी खाणो आण इ च।
अच्छा सूण दवा मिश्रित रुटी खाणो अकेला नि ऐ , अपण कज्याण बि लै , बच्चा -कच्चौं तैं बि लै अर जीमण बोलिक अपण सरा भयात तैं बुलै दे। मीन तुम सब्युं कुण जीमणो इंतजाम कर्युं च भै।
ओहो चिंता नि कौर द्वामिश्रित रुटी खाणो बाद तू स्वर्गधाम पौंछि जैलि जख मूषिका रूप मा , चौषठ कलाओं से सम्पन अप्सराएं तेरी इन्तजार करणी छन।
हाँ यु भोजन मि त्यार उधार चुकाणो बान दीणु छौं। कुज्याण कथगा रात ह्वे गेन धौं तीन मि तैं रात सीण नि दे , तीन मि तैं उल्लू बणै , तीन मि तैं निशाचर बणै , तीन मि तैं बीमार कार। वांक सब उधार दीणु छौं।
सप्रेम , एक मूषक जनित दुखभोगी !

14/1/15, Bhishma Kukreti , Mumbai India

*लेख की घटनाएँ , स्थान व नाम काल्पनिक हैं । लेख में कथाएँ , चरित्र , स्थान केवल व्यंग्य रचने हेतु उपयोग किये गए हैं।

Best of Garhwali Humor in Garhwali Language ; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language ; Best of Uttarakhandi Wit in Garhwali Language ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language ; Best of Ridicule in Garhwali Language ; Best of Mockery in Garhwali Language ; Best of Send-up in Garhwali Language ; Best of Disdain in Garhwali Language ; Best of Hilarity in Garhwali Language ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language ; Best of Garhwali Humor in Garhwali Language from Pauri Garhwal ; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal ; Best of Uttarakhandi Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal ; Best of Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal ; Best of Mockery in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal ; Best of Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar ;
Garhwali Vyangya , Garhwali Hasya,
स्वच्छ भारत , स्वच्छ भारत , बुद्धिमान भारत!

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.