«

»

Mar
02

श्री राम अनुज भरत के खोने की पुलिस रिपोर्ट

Best Harmless Garhwali Humor Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Garhwali Comedy Skits Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Satire Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Wit Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Sarcasm Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Garhwali Skits Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Garhwali Vyangya , Garhwali Hasya , Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister

श्री राम अनुज भरत के खोने की पुलिस रिपोर्ट

चबोड़्या स्किट ::: भीष्म कुकरेती

(स्थान दिल्ली पुलिस स्टेसन, समय कभी भी , किसी भी समय , युग आज , भोळ /कल और पर्स्युं /परसों )

मुन्ना भाई -पुलिस इंस्पेक्टर मि तैं रिपोर्ट लिखवाण !

पुलिस इंस्पेक्टर – तो भैर हवलदारम लिखवावो ! मीम किलै ऐयाँ ? मि छुट मुट लोगुं रिपोर्ट नि लिखुद।

मुन्ना भाई -त मि कौनसे छुट मुट आदिम छौं। मि मुन्ना भाई छौं।

पुलिस इंस्पेक्टर -मुन्ना भाई ?

मुन्ना भाई -हाँ

पुलिस इंस्पेक्टर -पर जख तक अखबारुं रिपोर्ट च मुन्ना भाई यरवदा जेलम बंद च। पेरोल नि मिलण से दुखि च। बिचारो ! वै तैं कॉंग्रेस सरकारौ जाणो बाद पेरोल पर छुट्टि बि नी मिलणी च। पैल त वैक कुत्ता तैं छींक बि आदि छे तो पेरोल पर छुट्टि मिल जान्दि छे।

मुन्ना भाई -मि बिहारक छौं। मुन्ना भाई म्यार निक नेम च।

पुलिस इंस्पेक्टर – अच्छा ! तो आप कै जेल मा छया ?
मुन्ना भाई -मि अर जेल ? अरे जब मि तैं जेल हूंदी छे तो जेल बि पंच तारा होटल मा तब्दील ह्वे जांद छा।

पुलिस इंस्पेक्टर -औ तो इन ब्वालो कि आप चारा घोटाला सम्राट लालू यादव जीक रिस्तेदार छंवां।

मुन्ना भाई -इंस्पेक्टर तुम हद पार करणा छंवां हाँ ! लालू जी पर आप अभियोग नि लगै सकदां अबि ऊँक केस हाइ कोर्ट मा चलणु च।

पुलिस इंस्पेक्टर – आप मुन्ना भाई छंवां कि लालू जीक रिस्तेदार ?

मुन्ना भाई -मि क्वी बि छौं मि तैं रिपोर्ट लिखवाणो अधिकार च।

पुलिस इंस्पेक्टर -चलो क्यांक रिपोर्ट च ? किडनैपिंग , रॉबरी , चोरी , औरतों से गहने छीनना, एक्जोरसन , अपहरण , बलात्कार , उत्तर पूर्व का लोगुं पर अत्याचार या ?

मुन्ना भाई -नै नै यु कुछ नी च।

पुलिस इंस्पेक्टर -तो ?
मुन्ना भाई -कैक हर्चणो रिपोर्ट च।

पुलिस इंस्पेक्टर -कख हरच ?

मुन्ना भाई -हर्च त पटना बिहार मा च।

पुलिस इंस्पेक्टर -त पटना मा रिपोर्ट लिखवावो !

मुन्ना भाई -नै वा जब तक पटना मा छे तब तक वींक हर्चणो सवाल इ पैदा नि हूंद छौ बस वा दिल्ली ऐ तो हर्चि गे।

पुलिस इंस्पेक्टर -वो त हर्चण वाळ जनानी च ?

मुन्ना भाई -हाँ बुलद त इनि छन।

पुलिस इंस्पेक्टर -मतबल ?
मुन्ना भाई -अब जब हम वींक नाम लींदा तो स्त्रीलिंग का रूप मा प्रयोग करदा। जन कि मरद कमीज पैर्दो तो भी कमीज स्त्रीलिंग ही हूंद ना कि पुल्लिंग।

पुलिस इंस्पेक्टर -अच्छा वा कख रौंद छे ?

मुन्ना भाई -वा परमानेंट च रौंद कखि नी च।

पुलिस इंस्पेक्टर – परमानेंट च रौंद कखि नी च। क्या मतबल ?

मुन्ना भाई -अब बूड बुड्या अर विद्वान तो याइ बुल्दन।

पुलिस इंस्पेक्टर -अच्छा कुछ हौर कुछ पछ्याणक ?

मुन्ना भाई -वींक बारा मा सब तैं पता च पर आज तक कैन नि द्याख ?

पुलिस इंस्पेक्टर -हवलदार ! ये तैं पागलखाना ली जावो।
मुन्ना भाई -हाँ पर वींक नाम आत्मा च जि !

पुलिस इंस्पेक्टर -आत्मा हर्ची गे ?

मुन्ना भाई -हाँ !

पुलिस इंस्पेक्टर -हवलदार ! जल्दी आवो ये तैं पागलखाना ली जावो।

मुन्ना भाई -हाँ हाँ भरत की आत्मा हर्ची गे।

पुलिस इंस्पेक्टर -भरत की आत्मा हर्ची गे ?

मुन्ना भाई -हाँ भरत की आत्मा हर्ची गे।

पुलिस इंस्पेक्टर -भरत की आत्मा कु क्या मतबल ? क्या तुमन या आत्मा देखि छे ?
मुन्ना भाई -आत्मा दिखेंदि नी च केवल महसूस करे जांद।

पुलिस इंस्पेक्टर -महसूस करे जांद ? हवलदार ! अरे कख मोर्यां छवाँ ? ये आदिम तैं पागलखाना भ्याजो !

नेपथ्य से एक आवाज – सब केजरीवाल पार्टी का विधायक जीक समर्थकों तैं रेड मारण से रुकणो जयां छन। एक बि हवलदार पुलिस स्टेसन मा नि छन। मि छुट्टन चेन स्नैचर ही कोतवाली दिखणु छौं।

मुन्ना भाई -हाँ भै मीन वीं आत्मा तैं महसूस कौर छे।

पुलिस इंस्पेक्टर -कैक आत्मा ?

मुन्ना भाई -श्रीराम अनुज भरत की आत्मा।

पुलिस इंस्पेक्टर -श्रीराम अनुज भरत की आत्मा? पर कख महसूस कौर छे ?

मुन्ना भाई – जतिन राम मांझी की आत्मा ! मीन महसूस कार कि मांझी की ही आत्मा भरत की आत्मा च।

पुलिस इंस्पेक्टर -जतिन राम मांझी ! जतिन राम मांझी ! मीन यु नाम सुण्यु सि च।
मुन्ना भाई -बिहार का मुख्यमंत्री ! मतबल भूतपूर्व मुख्यमंत्री !

पुलिस इंस्पेक्टर -तो तुमर बुलणो अर्थ च कि जतिन राम मांझी की आत्मा हर्ची गे ?

मुन्ना भाई -हाँ बि अर ना बि !

पुलिस इंस्पेक्टर -हाँ बि अर ना बि? छुट्टन ! अरे अपण छुटभयों कुण बोल कि ये तैं पागलखाना ली जावन।

नेपथ्य से एक आवाज -सब कोऑपरेटिव सोसाइट्यूं चुनाव कैम्पियन मा उत्तर प्रदेश जयां छन। कुछ नि ह्वे सकद।

पुलिस इंस्पेक्टर -हाँ बि अर ना बि को क्या अर्थ च महाराज ?

मुन्ना भाई -मतलब जब मीन जतिन राम मांझी तैं राज पाठ सौंपी छौ तो मीन मांझी की आत्मा मा श्री राम अनुज भरत की आत्मा देखि छौ। अर सोचि छौ कि मि चौदह मैना कु वनवास ले ल्यूलु तो फिर चुनाव मा सिम्पैथी का बल पर जीत जौलु अर फिर से बिहार का मयख्य्मन्त्री बण जौलु।

पुलिस इंस्पेक्टर -आप छन कु ?

मुन्ना भाई -मि नितीश कुमार छौं।

पुलिस इंस्पेक्टर -पर आपन तो अपण नाम मुन्ना भाई बताइ ?
मुन्ना भाई -हां मुन्ना भाई म्यार निक नेम च।

पुलिस इंस्पेक्टर -नितीश जी ! तो आपक बुलण च कि जतिन राम मा श्रीराम अनुज भरत की आत्मा छे ज्वा हर्ची गे ?

मुन्ना भाई -हाँ।

पुलिस इंस्पेक्टर -कै हिसाबन तुम इन बुलना छया।

मुन्ना भाई -मीन सोची छौ कि जतिन राम प्रॉक्सी चीफ मिनिस्टर रालो अर जब जरूरत होली मि मुख्यमंत्री बण जौलु पर जतिन राम मांझी तो असली मुख्यमंत्री ही बण गे छौ।

पुलिस इंस्पेक्टर -एक मिनट हाँ ! अरे छुट्टन ! जरा सहायता कौर हाँ !

छुट्टन (प्रवेश ) – हाँ साब ब्वालो !

पुलिस इंस्पेक्टर -यी नितीश कुमार छन अर युंक च्याला जतिनराम माँझिन यू तैं धोखा दे दे। अब यि दिल्ली मा भरत की वीं आत्मा खुज्याणो अयाँ छन जो मांझीजी का शरीर मा छे।
मुन्ना भाई -हाँ मांझीजी मा ज्वा श्रीराम भरत की आत्मा छे व हर्ची गे।
छुट्टन -तो आप अफु तैं श्री राम समजदां ?

मुन्ना भाई -हाँ मेरी छवि श्री राम जन च।

छुट्टन चेन स्नैचर -मतबल आप श्रीराम छन ना ?
मुन्ना भाई -हाँ एक हिसाब से।
छुट्टन चेन स्नैचर -इंस्पेक्टर साब असल मा श्रीराम अनुज भरत की आत्मा नि हर्ची बल्कण मा श्रीराम की आत्मा ही हर्ची गे।
मुन्ना भाई -क्या मतबल ? मि त पाक साफ़ राजनीतिज्ञ छौं।
छुट्टन चेन स्नैचर -धिक्कार च इन पाक साफ़ राजनीतिज्ञ पर। आत्मा तो नितीश कुमार की हर्चीं च अर मजाक या च कि नितीश कुमार भरत की आत्मा खुज्याणु च।
मुन्ना भाई -यह मेरी तोहमत है।
छुट्टन चेन स्नैचर -सुणो जी ! श्रीराम का स्वयंभू अवतार ! जरा तुम अपण आत्मा की परख कारो अर द्याखो कि तुमन कन जयप्रकाश जी तैं धोखा दे ? फिर लालू तैं हठाणो बान त्रियाचरित्र का बल पर अठारा साल भाजपा से ब्यौ रचाई अर फिर सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली का तर्ज पर भाजपा तैं नॉन सेक्युलर बतैक भाजपा से तलाक ले अर जै कॉंग्रेस विरोध का बल पर सत्तासीन हुयाँ वीं कॉंग्रेस का खुट ध्वेक चरणामृत प्यायी। जै लालू तैं तुमन चोर , डाकू , हत्त्यारा , भ्रष्ट बथैक बिहार का मुख्यमंत्री पद हथियाई अब वै इ लालू प्रसाद यादव का घौर पर सींदा। आत्मा तो तुम्हारी हर्चीं च ना कि जतिन राम मांझी की ! आप अपन आत्मविश्लेषण कारो तो शायद श्री राम अर भरत की आत्मा कु अर्थ समझ मा ऐ जाल।
मुन्ना भाई -चेन स्नैचर अर मि तैं आत्मज्ञान कु ज्ञान दीणु च ?
छुट्टन चेन स्नैचर -अरे नितीश कुमार जी ! मि त जौंमा छ वी चोरी करदु। तुम तो जौंमा नी च ऊंक आशा खत्म करदां , अभिलाषाऊँ तैं पैदा हुंदी खड़्यार दींदा , अरमानुं तैं जळै दींदा , सब्युंक लालसा , ऐश सफाचट कर दींदा। आत्मा की खोज की आवश्यकता तो आप तैं च ना कि जतिन राम मांझी तैं !

पुलिस इंस्पेक्टर -छुट्टन चेन स्नेचर सही बुलणु च। आवा अपण आत्मा हर्चणो रिपोर्ट लिखवावो !

2/3/15 ,Copyright@ Bhishma Kukreti , Mumbai India
*लेख की घटनाएँ , स्थान व नाम काल्पनिक हैं । लेख में कथाएँ , चरित्र , स्थान केवल व्यंग्य रचने हेतु उपयोग किये गए हैं।
Best of Garhwali Humor in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Uttarakhandi Wit in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Ridicule in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Mockery in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Send-up in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Disdain in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Hilarity in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Garhwali Humor in Garhwali Language from Pauri Garhwal Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Himalayan Satire in Garhwali Language from Rudraprayag Garhwal ; Best of Uttarakhandi Wit in Garhwali Language from Chamoli Garhwal ; Best of North Indian Spoof in Garhwali Language from Tehri Garhwal ; Best of Regional Language Lampoon in Garhwali Language from Uttarkashi Garhwal Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Ridicule in Garhwali Language from Bhabhar Garhwal Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Best of Mockery in Garhwali Language from Lansdowne Garhwal ; Best of Hilarity in Garhwali Language from Kotdwara Garhwal ; Best of Cheerfulness in Garhwali Language from Haridwar Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ;
Garhwali Vyangya Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Garhwali Hasya Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister , Garhwali skits Soul Searching by Nitish Kumar , Bihar Chief Minister ; Garhwali short skits, Garhwali Comedy Skits, Humorous Skits in Garhwali, Wit Garhwali Skits
स्वच्छ भारत , स्वच्छ भारत , बुद्धिमान भारत!

  • Bhishma Kukreti

    उत्तराखंड में वैवाहिक पर्यटन रणनीति -1
    Wedding Tourism development Strategy in Uttarakhand -1
    उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना – 397

    Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -400

    आलेख – विपणन आचार्य भीष्म कुकरेती

    -
    (जब उद्योगपति मुकेश अम्बानी के सुपुत्र का विवाह उत्तराखंड के त्रिगुणिनारायण मंदिर में निश्चित हुआ और अभी अभी दक्षिण अफ्रीका के व्यवसायी गुप्ता के सुपुत्र का विवाह औली में हुआ तो उत्तराखंड के कई विचारक व बुद्धिजीवियों ने नाक भौं सिकोड़ने शुरू कर दी। दुःख इस बात का है बल एक तरफ ये बुद्धिजीवी व विचारक उत्तराखंड में उद्यम न होने का रोना रट हैं और साथ में कई पर्यटक उद्यमों की कड़ी आलोचना करते रहते हैं। उत्तराखंड में पर्यटन , शिक्षा निर्यात आदि उद्यम ही लग सकते हैं तो हमे पर्यटन के हर कोण को समझना आवश्यक है )
    आज ही नहीं प्राचीन काल से ही वैवाहिक पर्यटन भारत क्या प्रत्येक देश में संस्कृति अंग रहा है। स्वयंबर वास्तव में पर्यटन का एक रूप था।
    वैवाहिक पर्यटन का अर्थ है जब विवाह वर या वधु अथवा एक पक्ष के घर से बहार हो तो उसे वैवाहिक पर्यटन कहते हैं। भारत व उत्तराखंड में खासकर वर पक्ष वधि पक्ष के गाँव में जाकर विवाह करता था तो वह भी वैवाहिक पर्यटन ही था। सन 80 तक उत्तराखंड के प्रवासी देश के अन्य कई शहरों में बस गए थे तो विवाह हेतु वर पक्ष के उत्तराखंड आते थे यह एक प्रकार का पर्यटन ही था। आज भी बहुसंख्यक प्रवासी या वासी विवाह हेतु एक शहर से दूसरे शहर प्रवास करते ही रहते हैं। सारी दुनिया में अब धन सुलभ होने से अब वैवाहिक पर्यटन में आशातीत वृद्धि हुयी है।
    एक आकलन के अनुसार मनुष्य अपनी जिंदगी की कमाई का एक तिहाई सेविंग विवाह पर व्यय करता है।
    संसार में विवाह पर्यटन का व्यवसाय तकरीबन US $16 बिलियन का है। यह व्यवसाय प्रतिवर्ष 20 -30 प्रतिशत वृद्धि कर रहा है और 20 -30 प्रतिशत वृद्धि के आसार हैं।
    भारत में विवाहिक पर्यटन या वेडिंग टूरिज्म का व्यवसाय सन 2020 तक 4500 करोड़ रूपये तक हो जायेगा और भारत में भी वेडिंग टूरिज्म 20 -30 प्रतिशत प्रति वर्ष वृद्धि करेगा का आकलन है।
    हाइवे , होटल्स , वायु पथ , समुद्र पथ , नदी पथ (जल पथ व नभ पथ) में विकास होने से वेडिंग टूरिज्म व्यवसाय में आशातीत वृद्धि हुयी है।
    आज वेडिंग टूरिज्म मैनजेमेंट एक अलग ही विषय बन गया है और इसमें कई नए आविष्कार हो रहे हैं
    भारत में वेडिंग टूरिज्म के प्रसिद्ध स्थल या राज्य निम्न हैं -
    राजस्थान
    गोवा
    केरल
    उत्तराखंड
    आने वाले अध्यायों में वेडिंग टूरिज्म हेतु उत्तराखंड में क्या क्या संभवनाएँ व वैवाहिक पर्यटन व्यवसाय विकास रणनीति होनी चाहिए पर विचार विमर्श किया जाएगा।
    -
    Copyright@ Bhishma Kukreti

    Wedding tourism development in Pauri Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Chamoli Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Rudraprayag Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Tehri Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Uttarkashi Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Dehradun Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Haridwar Garhwal Uttarakhand ; Wedding tourism development in Kumaon Uttarakhand ; Wedding tourism development in Udham Singh Nagar Kumaon Uttarakhand ; Wedding tourism development in Nainital Kumaon Uttarakhand ; Wedding tourism development in Almora Kumaon Uttarakhand ; Wedding tourism development in Pithoragarh Kumaon Uttarakhand ;

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.