«

»

Jan
10

स्पा टूरिज्म का भविष्य उज्ज्वल व उत्साहवर्धक है

स्पा टूरिज्म का भविष्य उज्ज्वल व उत्साहवर्धक है

Future of Spa Tourism

चिकित्सा सेवा निर्यात रणनीति – 60

Medical Service Export Strategies – 60

उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन रणनीति – 243

Medical Tourism development Strategies -243

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना – 364

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -364

आलेख – विपणन आचार्य भीष्म कुकरेती

-

सामन्य टूर से स्वस्थ टूर की ओर झुकाव

अब टूरिज्म केवल टूर का विषय नहीं रह चुका है अपितु यात्री स्वस्थ टूर की अपेक्षा ही नहीं करते हैं अपितु स्वस्थ टूर की मांग करते हैं। अब यात्री होटल में रहने खाने की मांग नहीं करते अपितु स्वस्थ रहन शान की मांग करते हैं। आधुनिक युग में यात्रा मनोरंजन तक सीमित न रहकर स्वस्थ यात्रा को ओर मुड़ चुकी है। फिटनेस , मन शांति , स्वस्थ तन हेतु स्नान , ध्यान , भोजन की मांग बढ़ रही है तथा पर्यटन स्थल में स्पा की भी मांग बढ़ चुकी है। अब टूर वेलनेस टूर की ओर झुक चूका है

न्यू ग्लोबल वेलनेस इंस्टीच्यूट की एक रिपोर्ट अनुसार 20 17 में वैलनेस इंडस्ट्री का विश्व व्यापार $ 4. 2 ट्रिलियन का है जिसमे वेलनेस टूरिज्म की भागीदारी $ 639. 4 बिलियन्स का आकलन है ।

स्पा व्यापर ने भी छलांग लगाई। स्पा व्यापर में यह छलांग अचानक नहीं आया अपितु इंफ्रास्ट्रक्चर वृद्धि से आया। जहां 2015 में स्पा स्थल 121595 थे वहीँ सन 2017 में ये स्थल 149000 तक बढ़ गए व इनमे 2 करोड़ 60 लाख कर्मिक कार्यरत हैं।

इसी तरह झरने या स्वास्थ्य खनिज जल सोत टूरिज्म में भी वृद्धि जल सोतों में फैसिलिटीज वृद्धि से व्यापार वृद्धि हुआ। सन 2015 में 109 देशों में 27507 गर्म जल झरने या खनिज जल सोतों में पर्यटक आते थे वहीं सन 2017 में 127 देसों में 34057 स्प्रिंग टूरिज्म में उत्तर आये और 2017 में झरने व जल सोत व्यापर में लगभग 1 करोड़ 80 लाख कर्मिक कार्यरत हो गए।

स्पा सपा टूरिज्म व गर्म पानी व अन्य झरने टूरिज्म में भी अच्छी खासी बढ़ोत्तरी हो रही है। नए स्पा सेंटर्स खुलने व स्टाफ आने से स्पा व झरने (जल सोते जैसे सहस्त्रधारा ) पर्यटन में अप्रत्यासित विकास हो रहा है।

विभिन्न वेलनेस टूरिज्म के बाजार आकर $ बिलियन्स में

सन ——- ————————-2015 ————- 2017————– 2022 आकलन

वेलनेस टूरिज्म ———————–563 . 2 ——— 639. 4 —————-919. 4

स्पा व्यापार —– ——————98. 6———– 118. 8 ——————– 127. 6

गर्म पानी व खनिज झरना टूरिज्म 51. 0 —————56. 2 —————– 77. 1

उपरोक्त भविष्यवाणी से भारत व उत्तराखंड के कर्णाधारों को स्पा टूरिज्म व जल सोत (स्वास्थ्य हेतु ) उचित कदम उठना चाहिए।

Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.