«

»

Feb
15

पौरवकाल में स्रुघ्न व मोरध्वज शहरों की दशा

पौरवकाल में स्रुघ्न व मोरध्वज शहरों की दशा

Srughna , Moradhwaja Cities in Paurava Period

हर्षवर्धन पश्चात बिजनौर , हरिद्वार , सहारनपुर का ‘अंध युग’ अर्थात तिमर युग इतिहास- 18

Paurava dynasty in Dark/ Early Middle Age of History of Haridwar, Bijnor , Saharanpur 18

Ancient History of Haridwar, History Bijnor, Saharanpur History Part – 295

हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 2945

इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती
-
पौरव वंशी शासनों में गाँवों के संस्कृत नाम उल्लेख हैं किन्तु शहरों के नाम नहीं मिलते।
बिजनौर , हरिद्वार , सहारनपुर पौरव काल इतिहास संदर्भ में निम्न मुख्य शहरों की विवेचना आवश्यक है -
स्रुघ्न
हर्ष काल में ही स्रुघ्न का बैभव समाप्त हो गया था। पाणिनी काल शुंग काल में जो ख्याति स्रुघ्न की थी वह पुनः प्राप्त न हो सकी। हर्ष काल में राजधानी स्थानेश्वर से कन्नौज स्थानांतर होने से स्रुघ्न का महत्व कम हो गया। डा छवडा को शुंगकालीन मृण मूर्ति मिली थी जो शुंग काल की बताई जाती है (1 ) डा डबराल का मत सही प्रतीत होता है कि अमोधभूति पश्चात शक -पह्लव लुटेरों के छापों से स्रुघ्न व बेहट आदि का बैभव कमजोर पड़ गया होगा। कुषाण शासन में राजकीय मार्ग व व्यापारिक मार्ग होने से जो श्री बढ़ी थी वह हूण हर ले गए (1 ) ।

मोरध्वज
स्रुघ्न से गोविषाण जाने वाले मार्ग पर मोरध्वज का बड़ा महत्व था। छति सातवीं सदी में किसी राजा ने सुदृढ़ दुर्ग निर्माण किया था। सन 1844 में मखराम ने यहां खुदाई की थी और कई
आर्किओलॉजी सर्वे ऑफ़ इण्डिया की वेब साइट के देहदन सर्कल में मोरध्वज महल के बारे में सूचना मिलती है कि गढ़वाल विश्वविद्यालय के डा के पी नौटियाल की अध्यक्षता में खुदाई हुयी व कई नए तथ्य मिले व सिद्ध हुआ कि खंडहर क्रिश्चियन सदी से दो सदी पहले से पांचवी , सातवीं सदी के हैं।
चूँकि मोरध्वज गढ़वाल के भाभर तराई हिस्से में था अतः मोरध्वज पर पर्वताकार के पौरवों का अधिकार ही था (3 )

सन्दर्भ :

1- Dabral, Shiv Prasad, (1960), Uttarakhand ka Itihas Bhag- 3, Veer Gatha Press, Garhwal, India page 421
2 – मखराम ,(1891 ) जॉर्नल ौफ़ एसियाटिक सोसाइटी बंगाल 1891 जिल्द ६ पृष्ठ २, ३ ४ ६
3 Dabral, Shiv Prasad, (1960), Uttarakhand ka Itihas Bhag- 3, Veer Gatha Press, Garhwal, India page 422

Copyright@ Bhishma Kukreti , 2019

Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Kankhal , Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Jwalapur , Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Rurki Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Laksar , Haridwar; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Saharanpur; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Behat , Saharanpur; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Saharanpur; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Nakur, Saharanpur Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Devband , Saharanpur; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Bijnor ; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Bijnor ; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Nazibabad , Bijnor Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Bijnor; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Nagina Bijnor ; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Dhampur , Bijnor ; Srughna , Mordhwaja Cities in Paurava Period , History of Chandpur Bijnor ;
कनखल , हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; ज्वालापुर हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;रुड़की , हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;लक्सर हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;मंगलौर , हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; बहादुर जुट , हरिद्वार इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;
सहरानपुर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;देवबंद , सहरानपुर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;बेहट , रामपुर , सहरानपुर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;बाड़शाह गढ़ , सहरानपुर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; नकुर , सहरानपुर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;
बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; धामपुर , बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; नजीबाबाद , बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; नगीना , बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; चांदपुर , बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ; सेउहारा बिजनौर इतिहास में पौरव कालीन स्रुघ्न व मोरध्वज ;

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.