«

»

May
17

कौन कमबख्त गम हटाने को पीता है… हम तो

कौन कमबख्त गम हटाने को पीता है… हम तो
-
चबोड्या स्किट : भीष्म कुकरेती
s = आधी अ
-
घराती प्रौढ़ – ये बख्तारु ! स्यु म्यार स्याळs नाक लाल किलै ?
स्याळ – जीजा जी ! तुमर मरखुड्या समदीन ल्वाड़न म्यार नाक थींच दे।
जीजा – नै नै समदि जी त गौ रूप छन च। जरूर कुछ त ह्वे ह्वाल।
स्याळ -मरखुड्या च तुमर समदी।
जीजा – पर समदी जी त मथि ख्वाळ रमेशा इख आराम करणो जयां छा तू कख मीलि ?
स्याळ – हाँ हाँ सूबेदार रमेश जीजान इ हम तै बिठाळ दे जख तुमर मरखुड्या समदी पड़्युं छौ।
जीजा – हां पर समदी जी तो पींद इ नि छन तो।
स्याळ -सूबेदार जीन भौत प्रेम से मिन्नत कार अर हम तिन्न्युंन अदा अदा घटकै दे। निखालिश घ्वाड़ा ब्रैंड रम। रम माने रम।
जीजा – तो ?
बखत्वारु – त क्या येन हौर बि पे दे।
स्याळ -किसी के बाप की पी थी क्या ?सूबेदार जीजा ने पिलाई थी।
जीजा – अरे पर तीन प्यायी त समदी जीक ले क्या ?
बख्तवारु – जरा बिंडी चढ़ गे त घ्याळ बि ह्वे गे।
जीजा – पर समदी जी त कम सुणदन तो इखम हल्ला कम पे या बिंडी पे क्या फरक पड़दो ?
बख्तवारु – जरा नीट रम बिंडी इ ह्वे गे छे त तै बिंडी चढ़ गे छे।
स्याळ – अरे दुख तो होगा ही ना। जीजा मुझसे ज्यादा सम्मान मेरे बड़े भय्यिये को देते हैं
जीजा – अबे सम्मान का बच्चा समदी जीन त्यार नाक किलै थींच ?
बख्तवारु – ह्यां तैन उलटी कर दे छे।
जीजा – उलटी कार तो भी समदि जीन ? क्या एन समदी जीक मथि उलटी कर दे छे क्या ?
स्याळ -हां पर मीन क्या समज मि सै जगा उल्टि करणु छौं।
जीजा – एक त ऊंक मथि उल्टि करणो क्या जरूरत छे ? अर उल्टि ह्वे बि गे छे त बि साफ़ सूफ कर दींदा।
बख्तवारु – उल्टिन तुमर समदी जीक सरा मुख भोरे गे छौ तो ऊँ तैं गुस्सा ऐ गे अर ऊंन थांतन एक नाक थींच दे।
जीजा – ह्यां पण उल्टि करणो म्यार समदी क मुक इ मील ? क्या बै क्वी इन उल्टि करदो क्या ? भैर जांद पश्वाउन्द उल्टि करदो।
स्याळ – अब तुमर समदीs गिच्च इथगा चौड़ खोल्यूं छौ तो मीन समज पश्वा च अर अर ….
बख्तवारु – अर एन पश्वा जाणी तुमर समदीक गिच्चुंद उल्टी कर दे
जीजा – अबे क्वी मुंगर लावो मि एक रही सही हड्डी बी तोड़दु।

Copyright @ Bhishma Kukreti
जसपुर गढ़वाल से शराब संबंधी व्यंग्य व जोक्स; ढांगू गढ़वाल से शराब संबंधी व्यंग्य व जोक्स; द्वारीखाल ब्लॉक गढ़वाल से शराब संबंधी व्यंग्य व जोक्स; यमकेश्वर विधान सभा गढ़वाल से शराब संबंधी व्यंग्य व जोक्स; गढ़वाल से शराब संबंधी व्यंग्य व जोक्स;

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.