«

»

Sep
25

लाला बजार अल्मोड़ा के एक पारंपरिक मकान में ‘काठ कुर्यांण’ तकनीक की काष्ठ कला

लाला बजार अल्मोड़ा  के एक पारंपरिक  मकान में   ’काठ कुर्यांण‘  तकनीक की  काष्ठ कला अलंकरण,लकड़ी पर  नक्काशी

Traditional House Wood Carving art of , Lala Bazar, Almora , Kumaon

कुमाऊँ , गढ़वाल, हरिद्वार उत्तराखंड , हिमालय की भवन  ( बाखली  ,   तिबारी , निमदारी , जंगलादार  मकान ,  खोली  ,  कोटि बनाल   )     में   काठ  कुर्याणौ   ब्यूंत ‘  की काष्ठ कला अलंकरण,लकड़ी पर  नक्काशी- 297

संकलन – भीष्म कुकरेती 

-

ग्रामीण अल्मोड़ा  ही नहीं शहरी अल्मोड़ा  में मकानों में ‘काठ  कुर्यां ‘ तकनीक से निर्मित मकानों की कई सूचनाएं मिलती रही हैं।  आज इसी  क्रम में  लाला बजार के एक मकान में छाजों /झरोखों  में ‘काठ  कुर्याण ‘ तकनीक  से निर्मित  काष्ठ कला अलंकरण,लकड़ी पर  नक्काशी पर चर्चा होगी।

लाला  बजार का प्रस्तुत  मकान  तिपुरा /तिमंजिला  है।  मकान के तल मंजिल में  लकड़ी दृष्टि से कोई विशेष संरचना उपलब्ध नहीं है।  मकान के पहली मंजिल व दूसरी मंजिल में छाजों /झरोखों में  ‘काठ कुर्याण ‘  तकनीक की आकर्षक   काष्ठ कला अलंकरण हुआ है।   दोनों  मंजिलों में कई झरोखे हैं।  प्रत्येक छाज /झरोखे  के उप स्तम्भों में लगभग एक सामान कला अंकन हुआ है।  छाजों के मुख्य स्तम्भ  दो दो उप स्तम्भों से निर्मित हैं।   लाल बजार के इस मकान के छज्जों के उप स्तम्भ  के आधार में अधोगामी पद्म दल से निर्मित कुम्भी निर्मित है , कुम्भी के ऊपर ड्यूल है , ड्यूल के ऊपर उर्घ्वगामी कमल दल है।  यहां से उप स्तम्भ की कड़ी ऊपर बढ़ती है किन्तु मुरिन्ड /मथिण्ड के कुछ नीचे उल्टा कमल दल अंकित हैं , उलटे कमल के ऊपर ड्यूल है जिसके ऊपर सीधा कमल दल है।  यहां से उप स्तम्भ की कड़ी सीधे ऊपर जाकर मुरिन्ड /मथिण्ड के स्तर बन जाते हैं।  छाज में ऊपर  दो मुख्य स्तम्भों के मध्य तोरणम /मेहराब भी स्थापित हैं।  झरोखों के दरवाज़ों को स कटान युक्त तख्तों से ढका गया है।    छाजों /झरोखों में अलंकृत अंकन आकर्षक हैं।

छत के आधार के नीचे भी ज्यामितीय कटान से  कला अंकन हुआ है।

सूचना व फोटो आभार :  बलवंत सिंह  

यह लेख  भवन  कला संबंधित  है न कि मिल्कियत  संबंधी।  . मालिकाना   जानकारी  श्रुति से मिलती है अत: नाम /नामों में अंतर हो सकता है जिसके लिए  सूचना  दाता व  संकलन कर्ता  उत्तरदायी  नही हैं .

Copyright @ Bhishma Kukreti, 2020

Traditional House Wood Carving art of , Kumaon ;गढ़वाल,  कुमाऊँ , उत्तराखंड , हिमालय की भवन  (तिबारी, निमदारी , जंगलादार  मकान , बाखली, कोटि  बनाल  ) काष्ठ  कला अंकन, लकड़ी पर नक्काशी

अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; भिकयासैनण , अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ;  रानीखेत   अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; भनोली   अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; सोमेश्वर  अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; द्वारहाट  अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; चखुटिया  अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ;  जैंती  अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ; सल्ट  अल्मोड़ा में  बाखली  काष्ठ कला ;

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.