«

»

Jan
19

गनौरा (बेरीनाग , पिथौरागढ़ ) में स्व महानर दसौनी परिवार की बाखली युक्त भवन में कुमाऊं शैली की ‘काठ कुर्याणौ ब्यूंत’ की काष्ठ कला अलंकरण अंकन

गनौरा (बेरीनाग , पिथौरागढ़ ) में  स्व  महानर  दसौनी   परिवार की बाखली युक्त भवन में कुमाऊं शैली की  ’काठ  कुर्याणौ  ब्यूंत’ की  काष्ठ कला अलंकरण अंकन

(यह लेख मित्र स्व. महानर दसौनी  को समर्पित )

Traditional House Wood Carving Art  of  Ganaura ( Berinag )  , Pithoragarh

गढ़वाल,कुमाऊँ,उत्तराखंड, के भवनों ( बाखली,तिबारी , निमदारी,जंगलेदार  मकान,खोली,कोटि बना  )  में कुमाऊं शैली की  ’काठ  कुर्याणौ  ब्यूंत’ की  काष्ठ कला अलंकरण अंकन, उत्कीर्णन  -  390

संकलन – भीष्म कुकरेती 

-

स्व मनोहर दसौनी  ने मृत्यु से एक या  दो दिन पहले ही पिथौरागढ़ से दो बाखलियों के  छायाचित्र  भेजे थे।  प्रस्तुत है उनके गाँव गनौरा (बेरीनाग , पिथौरागढ़ ) में दसौनी परिवार  की बाखली भवन में कुमाऊं शैली की  ’काठ  कुर्याणौ  ब्यूंत’ की  काष्ठ कला अलंकरण अंकन, उत्कीर्णन पर चर्चा की जायेगी ।

भवन /बाखली ढैपुर अथवा तिपुर  है व दुखंड /दुघर है।  भवन/बाखली के भ्यूंतल /ground floor  में कक्षों के द्वारों के सिंगाड़ों /स्तम्भ व मुरिन्ड /header  में ज्यामितीय कटान की कड़ियाँ व तख्ते प्रयोग हुए हैं।  तीनों तल की खिड़कियों में भी ज्यामितीय कटान के सिंगाड़ /स्तम्भ व मुरिन्ड /header हैं।

गनौरा में दसौनी परिवार की बाखली /भवन  के छाज पहले तल पर स्थापित हैं। छाजों  के सिंगाड़ /स्तम्भ/column में उल्टे  व सीधे कमल दल कटान से घुंडियां /कुम्भियाँ निर्मित हुयी हैं। छाजों  के ऊपरी शीर्ष।/ मुरिन्ड में  अंदर र की ओर  तोरणम हैं।  तोरणम के स्कन्धों में प्राकृतिक कला अंकन हुआ है. छाज के ढुड्यार /छेद  के निम्न भाग को तख्तों से ढका है। ढक्क्न या तख्ते में भी अंकन हुआ है।

निष्कर्ष निकलता है कि  गनौरा (बेरी नाग , पिथौरागढ़ ) के दसौनी परिवार की बाखली में काष्ठ  ज्यामितीय व प्राकृतिक अलंकरण उत्कीर्णन हुआ है।

सूचना व फोटो आभार: स्व महानर  दसौनी 

यह लेख  भवन  कला संबंधित  है न कि मिल्कियत  संबंधी।  . भौगोलिक मालिकाना   जानकारी  श्रुति से मिलती है अत: नाम /नामों में अंतर हो सकता है जिसके लिए  सूचना  दाता व  संकलन कर्ता  उत्तरदायी  नही हैं .

Copyright @ Bhishma Kukreti, 2021

कैलाश यात्रा मार्ग   पिथोरागढ़  के मकानों में लकड़ी पर   कला युक्त  अंकन -उत्कीर्णन , बाखली कला   ;  धारचूला  पिथोरागढ़  के बाखली वाले  मकानों में लकड़ी पर   कला युक्त  अंकन उत्कीर्णन   ;  डीडीहाट   पिथोरागढ़  के मकानों में लकड़ी पर   कला युक्त   अंकन -उत्कीर्णन ;   गोंगोलीहाट  पिथोरागढ़  के मकानों में लकड़ी पर   कला युक्त  उत्कीर्णन   ;  बेरीनाग  पिथोरागढ़  के बाखली वाले मकानों में लकड़ी पर   कला युक्त   अंकन  ;  House wood Carving  of Bakhali art in Pithoragarh  to be continued

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.