«

»

Jan
23

सौड़ (चम्बा , टिहरी गढ़वाल ) में एक भवन (2 ) गढवाली शैली की काष्ठ कला , अलकंरण , उत्कीर्णन , अंकन

सौड़  (चम्बा , टिहरी गढ़वाल )  में एक भवन  (2 ) गढवाली शैली की काष्ठ  कला , अलकंरण , उत्कीर्णन , अंकन

Traditional House Wood Carving Art of   Saur, Chamba,  Tehri

गढ़वाल, कुमाऊँ,  भवन  (तिबारी, जंगलेदार निमदारी , बाखली, खोली, मोरी, कोटिबनाल  ) में गढवाली शैली की काष्ठ  कला , अलकंरण , उत्कीर्णन , अंकन, – 394

-

संकलन - भीष्म कुकरेती  

चम्बा व टिहरी के अन्य क्षेत्रों से अच्छी संख्या में भवनों की सुचना मिल रही हैं।  इसी क्रम में आज सौड़  (चम्बा , टिहरी गढ़वाल )  में एक भवन में गढवाली शैली की काष्ठ  कला , अलकंरण , उत्कीर्णन , अंकन पर चर्चा होगी।  सौड़  (चम्बा , टिहरी गढ़वाल )  में  प्रस्तुत  भवन दुपुर व दुखंड है।  भवन में कष्ट कला दृष्टि से भवन के पहले तल (first floor ) में तिबारी व खड़की के ढक्क्न या द्वार में ही कला उल्लेखनीय है।  अन्य स्थानों में भवन काष्ठ कला सपाट ज्यामितीय ही हैं।

प्रथम तल में पांच स्तम्भों , चार ख्वाळों  की तिबारी स्थापित है। स्तम्भ के आधार में कमल दलों के अंकन से घुंडी व कुम्भी निर्मित दिख रही हैं. यहां से स्तम्भ सीधे हैं व सीधे ऊपर स्पॉट कड़ी के शीर्ष /मुरिन्ड /मथिण्ड /header  हैं।

शीर्ष के ऊपर छत आधार से  आरी नुमा कार की पट्टिका भी हैं।

निष्कर्ष निकलता है बल   सौड़  (चम्बा , टिहरी गढ़वाल ) के  एक भवन (२ ) में  ज्यामितीय व प्राकृतिक कला अंकन हुआ है।

 

  सूचना व फोटो आभार:  नरेंद्र बिष्ट 

यह आलेख कला संबंधित है , मिलकियत संबंधी नही है I   भौगोलिक स्तिथि और व भागीदारों  के नामों में त्रुटि   संभव है I

Copyright @ Bhishma Kukreti, 2020

गढ़वाल, कुमाऊं , देहरादून , हरिद्वार ,  उत्तराखंड  , हिमालय की भवन  (तिबारी, जंगलेदार निमदारी  , बाखली , खोली , मोरी कोटि बनाल     ) काष्ठ  कला  , अलकंरण , अंकन लोक कला  घनसाली तहसील  टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला  ;  टिहरी तहसील  टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला , ;   धनौल्टी,   टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला, लकड़ी नक्काशी ;   जाखणी  तहसील  टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला  ;   प्रताप  नगर तहसील  टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला, नक्काशी ;   देव प्रयाग    तहसील  टिहरी गढवाल  में  भवन काष्ठ कला, ; House Wood carving Art from   Tehri;

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.