«

»

Sep
14

मलारी के भवन संख्या १३ में काष्ठ कला अलंकरण, उत्कीर्णन  अंकन

 

मलारी के भवन संख्या १३ में  काष्ठ कला अलंकरण, उत्कीर्णन  अंकन

Traditional House Wood Carving Art from  Malari    , Chamoli

गढ़वाल,कुमाऊंकी भवन (तिबारी, निमदारी,जंगलादार मकान, बाखली,खोली) में पारम्परिक गढ़वाली शैली की  काष्ठ कला अलंकरण, उत्कीर्णन  अंकन, - ५०८

(अलंकरण व कला पर केंद्रित)

 

संकलन – भीष्म कुकरेती   

-

मलारी का प्रस्तुत भवन संख्या १३ लगता है चौपुर भाग है। या मकान के ऊपर यह एक मंजिला संरचना  है।  भवन  भाग लकड़ी का निर्मित है व छत छोड़ कहीं भी   मिट्टी गारे से निर्मित नहीं है।

सभी दीवारें लकड़ी की हैं।  मध्य के रेलिंग के मध्य लघु स्तम्भों को छोड़ सर्वत्र ज्यामितीय कटान की कड़ियाँ या तख्ते हैं।  लघु स्तम्भ चारपाई के पायों की कला वाले लघु स्तम्भ है।  या हुक्के के नाई (ऊपरी नली ) वाली कलाकृति समान कलायुक्त हैं।

निष्कर्ष निकलता है कि मलारी के भवन संख्या १३ में ज्यामितीय कटान की कष्ट कला दृष्टिगोचर हो रही है।

सूचना व फोटो आभार: हेमंत डिमरी संग्रह 

यह लेख  भवन  कला संबंधित  है न कि मिल्कियत  संबंधी  . मालिकाना   जानकारी  श्रुति से मिलती है अत:  वस्तु स्थिति में  अंतर   हो सकता है जिसके लिए  सूचना  दाता व  संकलन कर्ता  उत्तरदायी  नही हैं .

Copyright @ Bhishma Kukreti, 2021

गढ़वाल,  कुमाऊँ , उत्तराखंड , हिमालय की भवन  (तिबारी, निमदारी , जंगलादार  मकान , बाखली , मोरी , खोली,  कोटि बनाल  ) काष्ठ  कला अंकन ,   श्रंखला जारी

कर्णप्रयाग में  भवन काष्ठ कला,   ;  गपेश्वर में  भवन काष्ठ कला,  ;  नीति,   घाटी में भवन काष्ठ  कला,    ; जोशीमठ में भवन काष्ठ कला,   , पोखरी -गैरसैण  में भवन काष्ठ कला,   श्रृंखला जारी  रहेगी

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.