«

»

Aug
15

Let us Learn Garhwali -25 A

आवा गढ़वाळी सिकला – फड़की २५ अ

Let us Learn Garhwali -25 A

Bhishma Kukreti

अद्भुत रस ( Rapture of Surprise , Adhbhut Ras )

१—–

रे पेंचुला का बालक पर जु मैन ध्यान धरी होलो

त मेरी करान्गुळी बटी दूध निकळी जाओ I

तब अंगुल़ा बटी दूध निकळी गये I

तब हौर बरसू बढ़दन स्यो बढी रायो दिनूँ मां

गज भर की छाती होए गज भर की पीठ I

(हुडक्या नृत्य गीत , संकलन -डा. शिवा नन्द नौटियाल )

२—–

घोड़ो गाडदो हात हात की जीभ ,

बेथ बेथ का दांत I

तब गाडे भानु भोम्पालन बेतुना की छड़ी

साधण लागे मा काली घोड़ो

मारी मछली उलार

ओ जै लगे वीं काली बाडुल़ी I

कनो रेगे नौ दिन नौ राती अगास मा I

एक बेत टूटे हैंको निकाल़े मालन ,

घोड़ा पर पसीनो आईगे , नीला दाग पड़ी गेन I

(भानु भौम्पोलो रणभूत नृत्य गीत, संकलन डा . शिवा नन्द नौटियाल )

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.