«

»

Sep
27

अपण धरोहर अपण कोशिश: एस्काट कस्तूरी मृग अभयारण्य (पिथौरागढ़)

उत्तराखंड, उत्तर भारत में स्थित एक बहुत ही खूबसूरत और शांत पर्यटन केंद्र है। इस जगह का शुमार देश की उन चुनिन्दा जगहों में है जो अपनी सुन्दरता के चलते दुनिया भर के पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है। ‘देवताओं की भूमि’ के रूप में जाना जाने वाला उत्तराखंड अपने शांत वातावरण, मनमोहक दृश्यों और खूबसूरती के कारण पृथ्वी का स्वर्ग माना जाता है। इस खूबसूरत राज्य के उत्तर में जहाँ तिब्बत है वहीँ इसके पूरब में नेपाल देश है। जबकि इसके दक्षिण में उत्तर प्रदेश और उत्तर पश्चिम में हिमाचल प्रदेश है। इस राज्य का मूल नाम उत्तरांचल था जिसे बदलकर जनवरी 2007 में उत्तराखंड कर दिया गया था। राज्य में कुल 13 जिलें हैं जिन्हें प्रमुख डिवीजनों, कुमाऊँ और गढ़वाल के आधार पर बांटा गया है।

आइये आज जानकारी लेते हैं उत्तराखंड में स्थित एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल एस्काट कस्तूरी मृग अभयारण्य के बारे में।

पिथौरागढ़ से 54 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एस्काट कस्तूरी मृग अभयारण्य एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है। एस्काट कस्तूरी मृग अभयारण्य की स्थापना कस्तूरी हिरन (वैज्ञानिक नाम- मास्कस ल्युकागस्टर) के संरक्षण के लिए की गई थी। कस्तूरी हिरन के अलावा, पार्क में अन्य जानवर तेंदुआ, जंगली बिल्ली, ऊदबिलाव, कांकड़, छोटे सींगों वाला बारहसिंगा, गोराल(घूमे हुए सींगों वाले बारहसिंगे, सफेद भालू, हिमालयी चीते, कस्तूरी मृग, हिमालयी काला भालू और भरल आदि देखने को मिलते हैं। इस अभयारण्य में बर्फ में पाया जाने वाले मुर्गा, तीतर तथा यूरोपियन तीतर सहित कई पक्षी देखे जा सकते हैं। कुमाऊँ में वर्ष 1986 में बना यह अभयारण्य समुद्र तल से 5412 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। अभयारण्य के निकट कई मंदिर हैं।

धारचूला की यात्रा करने के लिए गर्मी और मानसून का मौसम बिलकुल उचित नहीं है। अगर पर्यटक यहां की मजेदार और आरामदायक सैर करना चाहते हैं तो सर्दियों के मौसम में भ्रमण के लिए आएं। इस दौरान क्षेत्र की जलवायु अच्छी होती है। धारचूला, सड़क मार्ग द्वारा पिथौरागढ़ से जुड़ा हुआ है। पिथौरागढ़ के लिए राज्य सरकार द्वारा बसें चलाई जाती हैं। बसें, अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल, आनंद बिहार, दिल्ली से चम्पावत, अल्मोड़ा और टनकपुर के लिए चलती हैं। वैसे पर्यटक सुविधा के लिए इन जगहों से प्राईवेट टैक्सी या कैब भी किराए पर ले सकते हैं। धारचूला के लिए सबसे नजदीकी रेलहेड, टनकपुर रेलवे स्टेशन है जो लगभग 218 किमी० की दूरी पर स्थित है। यह स्टेशन, देश के कई मुख्य शहरों से नियमित चलने वाली ट्रेनों के द्वारा जुड़ा हुआ है। पर्यटक, रेलवे स्टेशन से धारचूला तक जाने के लिए टैक्सी किराए पर ले सकते हैं। धारचूला का सबसे नजदीकी एयरबेस पंतनगर एयरपोर्ट है जो धारचूला से 317 किमी० की दूरी पर स्थित है। यह हवाई अड्डा, दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से नियमित उड़ानों के द्वारा जुड़ा हुआ है। दिल्ली के हवाई अड्डे से पर्यटक देश के अन्य राज्यों व शहरों के अलावा दूसरे देश भी जा सकते हैं। पंतनगर एयरपोर्ट से धारचूला के लिए टैक्सी और बस किराए पर चलती हैं।

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.