«

»

Mar
17

किलै सतपाल महाराज चुनाव नि लड़न चाणा छन ?

किलै सतपाल महाराज चुनाव नि लड़न चाणा छन ?

चुनगेर ,चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती
(s =आधी अ = अ , क , का , की , आदि )

सुणन मा आयि याने कजीरवाळ कु पेड मीडिया से पता चौल कि अपण रेल पुरुष सतपाल महाराज चुनाव नि लड़न चाणा छन । अर बिका हुआ मीडिया से ही जाण कि युवा इलाहाबादी राजकुंवर साकेत बहुगुणा बि टिहरी से चुनाव नि लड़न चाणा छन।
उन त भ्रष्ट मीडिया रोज बताणु च कि कॉंग्रेस मा क्वी बि चुनाव मा खड़ो ही नि हूण चाणु च अर वा बि कॉंग्रेसक टिकेट वापस करणी च।
याने कि 2014 आम चुनाव मा कॉंग्रेस मा टिकटार्थियों से जादा टिकेट वापस करण वाळ जादा छन।
जैं पार्टी का नेता बगैर कुछ कर्याँ रेल पुरुष कु गळपट्टा-कुकुरपट्टा लगैक घुमणु रावो वै तैं चुनाव से त डौर लगण ही च कि ना ?
अब बात बि सै च जब जनता फ़ूड सेक्युरिटी बिल की भकलौण, बहकावा मा नि आलि तो इम्पोर्टेड साकेत बहुगुणा कै मुखन टिहरी का मतदाता कु समिण जालु ?
अब जब इकॉनोमिक रिफॉर्म की डंडली ही सज जावो (देहांत होना) तो अपण वित्तमंत्री पी चिदम्बरम कै हिसाबन बेशरमी से दांत निपोड़िक वोट मांगल ?
जब मनरेगा कु अर्थ ही भ्रस्टाचार ह्वे जालु तो जगदम्बिका पालन अपण पाळि बदलण ही च कि ना ?
जैं पार्टी कु गृह मंत्री खुलेआम बोली द्यावो कि हम मीडिया कु भुर्ता बणै द्योला तो इन मा भारत कु मीडिया मंत्री याने सूचना -प्रसार मंत्री पर पुट चुनावो बगत पर खाइ -बाण की बीमारी लगण च कि ना ?
जैं पार्टी का लोग चारा का चोर लालू यादव से पल्लाबंद कारल तो वीं पार्टी का सचिन पायलेट तैं चुनावो टैम पर करास लगण च कि ना ?
जैं पार्टी मा उत्तर प्रदेश का कॉंग्रेसी कार्यकर्ताओं से बुले जावो कि मुलायम सिंग अर बहन मायावती हम तैं केंद्र मा सपोर्ट करणा छन तो यूं का पाप लोगुं समणि नि लाण तो इन मां उत्तर प्रदेस मा कॉंग्रेसन खज्याणि च अर खुजेक बि असली संघर्षशील कॉंग्रेसी मिलण कठण होलु कि ना ? जैं पार्टिन संघर्ष तैं तिलांजलि दे दे हो उख बुरु बगत पर चुनावी उम्मेदवारुं अकाळ पड़ण लाजमी च कि ना ?
जैं पार्टी का शहजादा 2014 मा देस तैं सन 2024 कु खाका दीणो जगा सन 2002 की याद दिलावो त अवश्य ही या पार्टी दिमागी अर विचारुं मामला मा दिवालिया ही ह्वे गे तो कु कॉंग्रेसी नेता चाला कि वु चुनावी आग मा भड़ये जावन ?
जैं पार्टी कु अर्थ ही नेहरू -गांधी पार्टी ह्वे जावो अर कॉंग्रेसी कार्यकर्ताओं की पूछ केवल चुनावी समय मा ह्वावो तो वीं पार्टी मा बुर बगत पर नेता भगौड़ा होला ही कि ना ?
उन ये मामला मा भाजपा बि कॉंग्रेस की कार्बन कॉपी छ कि ना ?

Copyright@ Bhishma Kukreti 17/3/2014

*कथा , स्थान व नाम काल्पनिक हैं।
[गढ़वाली हास्य -व्यंग्य, सौज सौज मा मजाक से, हौंस,चबोड़,चखन्यौ, सौज सौज मा गंभीर चर्चा ,छ्वीं;- जसपुर निवासी द्वारा जाती असहिष्णुता सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ढांगू वाले द्वारा पृथक वादी मानसिकता सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;गंगासलाण वाले द्वारा भ्रष्टाचार, अनाचार, अत्याचार पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; लैंसडाउन तहसील वाले द्वारा धर्म सम्बन्धी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;पौड़ी गढ़वाल वाले द्वारा वर्ग संघर्ष सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; उत्तराखंडी द्वारा पर्यावरण संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;मध्य हिमालयी लेखक द्वारा विकास संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य;उत्तरभारतीय लेखक द्वारा पलायन सम्बंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; मुंबई प्रवासी लेखक द्वारा सांस्कृतिक विषयों पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; महाराष्ट्रीय प्रवासी लेखक द्वारा सरकारी प्रशासन संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य; भारतीय लेखक द्वारा राजनीति विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; सांस्कृतिक मुल्य ह्रास पर व्यंग्य , गरीबी समस्या पर व्यंग्य, आम आदमी की परेशानी विषय के व्यंग्य, जातीय भेदभाव विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य; एशियाई लेखक द्वारा सामाजिक बिडम्बनाओं, पर्यावरण विषयों पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य, राजनीति में परिवार वाद -वंशवाद पर गढ़वाली हास्य व्यंग्य; ग्रामीण सिंचाई विषयक गढ़वाली हास्य व्यंग्य, विज्ञान की अवहेलना संबंधी गढ़वाली हास्य व्यंग्य ; ढोंगी धर्म निरपरेक्ष राजनेताओं पर आक्षेप , व्यंग्य , अन्धविश्वास पर चोट करते गढ़वाली हास्य व्यंग्य श्रृंखला जारी ]

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.