Jan
20

इकर पाणी जसपुर जैसे खनिज , स्वास्थ्यकारी झरनों , छिंछवड़ों, ढंढियों की खोज आवश्यक

इकर पाणी जसपुर जैसे खनिज , स्वास्थ्यकारी झरनों , छिंछवड़ों, ढंढियों की खोज आवश्यक

Need f Researches for Finding New mineral Springs and General Springs
चिकित्सा सेवा निर्यात रणनीति -65

उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन रणनीति – 248

Medical Tourism development Strategies -248

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना – 369

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -369

आलेख – विपणन आचार्य भीष्म कुकरेती

-

जैसे जैसे समृद्धि वृद्धि हो रही है मनुष्य स्वास्थ्य के प्रति अति संवेदनशील होता जा रहा है। याने समृद्ध नागरिक आम मिनरल वाटर बोतल के स्थान पर विशेष स्थान के खनिज जल बोतल की मांग की और बढ़ेगा। समृद्धि आने के बाद भविष्य में नागरिक विशेष नहीं अति विशेष खनिज झरना पर्यटन अपनाएगा। इस प्रकार के अति विशेष पर्यटक अति विशेष स्वास्थ्य पर्यटन को जन्म देगा। उत्तराखंड कई प्रकार के विशेष खनिज युक्त झरनों व ढंढियों का भंडार है।

एक उदाहरण देना श्रेयकर होगा। पौड़ी गढ़वाल में ऋषिकेश -गुमखाल मोटर मार्ग के मध्य मल्ला ढांगू में जसपुर है। जसपुर में एक जल ढंढी /गड्ढा युक्त जल सोता प्रसिद्ध ढंढी है, जिसे इकर पाणी कहा जाता है । इकर पाणी ढंढी गुडगुड़्यार -नाथ गदन के मध्य स्थित है। शुरू में मैं जब गोर चराने अपने ताऊ जी स्व बलदेव प्रसाद जी के साथ इकर ढंढी निकट पंहुचता था तो ताऊ जी उस ढंढी का पानी पीने को अवश्य कहते थे। ताऊ जी ने बतलाया कि इस ढंढी के पानी पीने से पेट के कई रोग नहीं होते अथवा रोग ठीक हो जाते हैं। फिर युवावस्था में मैं जब भी इकर पाणी निकट जाता था तो इकर पाणी ढंढी का पानी पीना नहीं भूलता था। यह कुछ आदत सी बन गयी थी। ताऊ जी का कहना था कि सन पचास से पहले दूसरे गाँव के लोग भी पेट बीमारी रोकथाम हेतु इकर पाणी पीने आते थे जिसकी पुष्टि ठंठोली गाँव के हमारे कुल पुरोहित व वैद्य स्व किसन दत्त कंडवाल जी ने भी की। स्व किशन दत्त कंडवाल जी वैद्य थे तो कई क्षेत्रों में घूमते थे और जब एक बैठक में इकर पाणी का जिक्र आया था तो उन्होंने कई अन्य गाँवों के विशेष झरने व ढंढियों का जिक्र भी किया था जिन झरनों व ढंढियों का विशेष स्वास्थ्य से संबंध था जैसे -खुजली राहत , दमळ (एलर्जी ) राहत , पाचन शक्ति वर्धक , पेट पीड़ा राहत आदि। दुःख है कि मैं उन गाँवों का नाम बिसर गया हूं। धीरे धीरे गढ़वाल में प्राकृतिक चिकित्सा का नाम अंध विश्वास नाम पड़ने लगा तो इकर पानी जैसे जल स्रोत्र नेपथ्य में चल गए और आज जसपुर की नई पीढ़ी जानती भी नहीं इकर पानी विशेष जल सोत था।

उपरोक्त जसपुर का इकर पाणी उदाहरण व स्व किसन दत्त जी द्वारा विभिन्न जल सोतों के गुण बताना सिद्ध करता है उत्तराखंड में स्वास्थ्यवर्धक खनिज जल सोतों का भंडार है। प्राकृतिक चिकित्सा विकास व प्राकृतिक चिकित्सा पर्यटन विकास हेतु इन विशेष जल सोतों (ढंढी , छ्वाया ) व छिंछवड़ों (झरनों ) की जानकारी उपलब्ध होना आवश्यक है।

इन सोतों के जल में रसायनिक अवयवों ही नहीं अपितु जल का स्वास्थ्य पर क्या प्रभाव पड़ता है।

जल सोतों की खोज में कई लोगों /संस्थाओं की भागीदारी आवश्यक है

खनिज जल सोटो की अन्वेषक संतानों जैसे विश्वविद्यालय , जिओलॉजिकल सर्वे ऑफ इण्डिया आदि को सूचना देना व इन संस्थानों द्वारा खोज

आयुर्वेद व चिकित्सा संबंधी संस्थानों द्वारा अन्वेषण याने क्लिनिकल रिसर्चेज

विशेष खनिज जल सोतों का प्रचार प्रसार

वैसे श्रीनगर विश्वविद्यालय व अन्य संस्थान अन्वेषण करते रहते हैं किन्तु अब गति में तेजी आवश्यक है।

-

Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Pauri Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Tehri Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Uttarkashi Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Dehradun Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Haridwar Garhwal , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Pithoragarh Kumaon , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Champawat Kumaon , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Almora Kumaon , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Nainital Kumaon , Uttarakhand; Requirements for Finding New Mineral Springs for Medical Tourism development in Udham Singh Nagar Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; उधम सिंह नगर कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; नैनीताल कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; अल्मोड़ा कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; टिहरी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; चम्पावत कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; पिथौरागढ़ कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; रानीखेत कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; हरिद्वार गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; डीडीहाट कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज ; नैनीताल कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु नए खनिज झरनों की खोज :

Jan
18

चिर सुंदरी भुंदरा बौ क्यांक बान व्यस्त च ?

चिर सुंदरी भुंदरा बौ क्यांक बान व्यस्त च ?

खिचल्यूं द्यूर : भीष्म कुकरेती
-
मि – हैलो
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ –
मि -हैलो
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – हल्लो
मि -हैलो मि बुलणु छौं
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -पता च।
मि -ये बौ सूण !
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – सुणा !
मि -चलती है क्या खंडाला ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -अपणी फूफू तैं लीजा खंडाला बंडाला
मि – उंह उंह
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – बोल
मि -ये बौ मेरी याद बि आंदी ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ हाँ किलै ना ?
मि -झूठ सफा झूठ
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – त्यारी सौं जब बि म्यार भाई फोन आंद पता नी तेरी याद भौत आंद धौं
मि – ठीक च ठीक फोन धरणु छौं।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -अच्छा अच्छा बोल। रुसे ना तू त म्यार प्रिय द्युरों मादे एक द्यूर छे। बोल बोल।
मि – अरे फिर झूठ। मि प्रिय हूंद त फोन नि करदी ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – त्यार सौं जु झूट बुलणु हों धौं।
मि -त फिर फोन फोन किलै ना ? उनी बि अचकाल ह्यूंदम काम कमि रौंद।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – हाँ पर मि जरा व्यस्त छौं।
मि – व्यस्त अर माघ अ मैना ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ हाँ मि वेरी वेरी बिजी छौं।
मि – हैं ? क्वी हैंक द्यूर त नि ऐ गे गां मा ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – चल बद्तमीज छ्वारा फोन धौर। म्यार बारा म इन धारणा ? फोन काटूं क्या ?
मि -ओ सौरी सौरी !
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – सौरी का बच्चा।
मि – अरे पर माघम क्वी जनानी व्यस्त राओ तो ? द्यूर गलत ही स्वाचल ना ? क्यांक व्यस्त ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – मि बसंत पंचमी तयारी करणु छौं।
मि -हैं ? बसंत पंचमी तयारि ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ बसंत पंचमी तयारी।
मि – पण बसंत पंचमी ले क्या तयारी ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -बिसर गे सैत तू बसंत पंचमी त्यौहार ?
मि -नै नै मैं सौब याद च बसंत पंचमी त्यौहार।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -तो क्या क्या हूंद छौ बसंत पंचमी कुण ?
मि -क्या सुबेर सुबेर रतखुल्यां मा ल्वार बाडा या ल्वारण बोडी हमर पुंगड़ बिटेन स्यूं जलड़ जौ उखाड़ि लांद छा अर हमर हरेक म्वार पर चिपकाइ जांद छा। सन्नी क म्वारों पर बि जौ हरयळि चिपकै दींद छा।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – फिर ?
मि – फिर क्या ? फिर दुफरा म हम सब बसंती रंग की हुळळि खिल्दा छा। तब तक स्वाळ पक्वड़ बि बण जांद छा। जैक इख बरजात ह्वावो उख स्वाळ पक्वड़ बंटद छा।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -अर ?
मि -अर क्या स्याम दैं नाच गीत लगांद छा।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – यी त परेशानी च द्यूर जी।
मि -क्यांक परेशानी ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -तुमर ले क्या तुम त मुंबई म मजा करणा छा , क्वी डिल्ली , क्वी ड्यारा डूण। परेशानी त हमकुण च।
मि -केकी
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -अरे सबसे बड़ी परेशानी च जौ बूण अर बसंत पंचमी तक बचैक रखण। क्वी त गाँव म नि रै गे त हरेक मवासक म्वारों कुण इथगा जौ बूण अर बसंत पंचमी तक बचाण।
मि -हाँ स्या त समस्या बड़ी च।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – वां से बड़ी समस्या च ल्वार बि त परदेस भाजी गेन। आठ दस गाऊं म एकाद ल्वार रयां छन। सी बि अब हर्यळी लगाणो तयार नि छन। बुल्दन बल संस्कृति बचाणो ठ्यका हमर इ लियुं क्या ?
मि -बात त सही च।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ त हम कुछुन ल्वार ज्योर तै पुळयायी बल जु आठ दस गांवुं म जैक सबि म्वारों पर हर्यळि लगाल ये साल। आठ दस दिन तो ल्वार ज्योर तै मनाणम लग गेन।
मि – चलो हर्यळ लग गे त बसंती रंग बि लग इ जाल।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – ये साल अब हम सौब फिर से गीत लगौला।
मि -नाच गीत नाटक ?
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ आठ दस गाँव वळ दिन म एक जगा आल अर नाच -गीत नाटक स्वांग लगैक चल जाल।
मि -भौत सुंदर भौत सुंदर !
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -अरे लोगुं तै मनांद मनांद मेरी टक टूटी गे।
मि -वधाई हो वधाई।
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ – अर सूण ये साल आठ दस गाँवम मिळवाक म मिलिक बच्चों तै सामूहिक पाटी बि दिए जाल
मि -याने सामूहिक सरस्वती पूजा
चिरसुन्दरी भुंदरा बौ -हाँ जु बि नाम दे देली।
मि – ब्वा ये बौ बड़ो काम च यु तो मि त पदम् श्री देलु तुम सब तैं।
भुंदरा बौ – रण दे बिंदी बड़ैं न कौर। फोन रख। मि जरा जौ दिखणो जाणु छौं।
मि – हर हर हर्यळी जौकी खुद लगीं बौ की

सर्वाधिकार भीष्म कुकरेती 2019

Jan
17

अजकाल जिंदगी पासवर्डै बैसाख्यूं पर चलणी च

अजकाल जिंदगी पासवर्डै बैसाख्यूं पर चलणी च

चबोड़। चखन्यौ , मजाक : भीष्म कुकरेती
-
हर युग म अपण अपण ठसक हूंद , सलीका हूंद , महत्वपूर्ण तकनीक हूंद। अंग्रेजुं जमनम लाट साब , लाट साब महत्वपूर्ण छौ , नेहरु, इंदिरा, राजीव , मनमोहन जीक जमन म जय हो नेहरु खानदान याने चापलूसों जमन छौ चूंकि भाजपौ शासन अबि तलक पांच साल नि ह्वेन त ‘जय हो नागपुर की ‘ तैं अबि महत्व नि मील।
इनि कुछ साल पैल ताली चाबी जमन छौ , स्विच ऑन स्विच ऑफ कु जमन छौ अब पासवर्ड से जिंदगी चलणी च , भगणी च या उड़नी च। मै लगद उड़नी च।
पैल सैक़ल ह्वावो , स्कूटर ह्वावो या कार इ किलै नि हो हरेक कण ताळी चाबी हूंदी छे। चाबी हर्चि जावो तो बॉबी अर बाबा कुछ बि कर लींदा छा। पर अब ह्वावो , स्कूटर ह्वावो हो या कार खुलण बंद करण हो इलेक्ट्रॉनिक लौक ओपन करणो तुमर दिमाग अर स्मरण शक्ति की पराम् आवश्यकता पड़दी। चाबी ख्वे जाय तो बॉबी दगड़ डांस ह्वे सकद छौ पर अब पासवर्ड बिसरी जावो तो बॉबी बि भाजी जाली।
पैल मकान लगण या फ़्लैट मालिक हूण बाद म पैल ताळ चाबी खरीदण पड़द छे अब इलेक्ट्रॉनिक ताळ अर बस पासवर्ड , तुमर भैर भीतर हूण पर पासवर्ड कु अधिकार च अब।
बैंकिंग अब परम्परागत बैंकिंग नि रै गे बल्कण म अब पासवर्ड बैंकिंग ह्वे गे।
पैल खरीददारी सरल छे बस रुप्या लिजाण आफत हूंद छे अर अब बस क्रेडिट स्वेप कारो पर पासवर्ड बिसरि गेवा त खरीददारी की ऐसी तैसी।
मोबाइलम खुलणो पासवर्ड , नेट खुलणो पासवर्ड, फेसबुक खुलणो पासवर्ड अर भुल्युं पासवर्ड का बान हैंक पासवर्ड। जिंदगी पासवर्ड का जंजाळ फंस गे।
पैल सेफ हूंदी छे अर ताळ चाबी हूंद थै अब सेफ का वास्ता पासवर्ड ह्वे गे। सेफ्टी पासवर्ड की बंधक ह्वै गे।
कम्प्यूटर सर्वपर्थम पासवर्ड की ही मांग , मेल खुलणो पासवर्ड की मांग , विशेष सर्च का वास्ता पासवर्ड।
किचन म जावो तो माइक्रोवन , इंडक्शन कुकर , मल्टी कुकर , गैस स्टोव, क्या फ्रिज बि बगैर पासवर्ड का यूज नि करे सक्यांद। भोजन बि अब पासवर्ड ह्वे गे
पैल समौ बिताणौ बान बाछी कांद हूंदी छे अब हरेक पासवर्ड याद करण से समय कट जांद। जिंदगी पासवर्ड पिंजरा म बंद ह्वे गे।
अच्काल जिंदगी घ्यू दूध पर नी चलणी अपितु पासवर्ड पर चलणी च।

Copyright@ Bhishma Kukreti , 2019
गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; ढांगू , गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; चमोली गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; रुद्रप्रयाग गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; टिहरी गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; उत्तरकाशी गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; देहरादून गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; हरिद्वार गढ़वाल उत्तराखंड से व्यंग्य , जोक्स , हास्य ; Humor, Satire, Jokes from Dhangu , Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Pauri Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Chamoli Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Rudraprayag Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Tehri Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Uttarkashi Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Dehradun Garhwal, Uttarakhand ; Humor, Satire, Jokes from Haridwar Garhwal, Uttarakhand ;

Jan
14

गर्म जल झरना टूरिज्म विकास हेतु अतिरिक्त आकर्षण आवश्यकतायें

गर्म जल झरना टूरिज्म विकास हेतु अतिरिक्त आकर्षण आवश्यकतायें
Other Additional Attractions for Hot Water Spring Tourism Development
Medical Service Export Strategies – 64

चिकित्सा सेवा निर्यात रणनीति -64

उत्तराखंड में चिकत्सा पर्यटन रणनीति – 247

Medical Tourism development Strategies -247

उत्तराखंड पर्यटन प्रबंधन परिकल्पना – 368

Uttarakhand Tourism and Hospitality Management -368

आलेख – विपणन आचार्य भीष्म कुकरेती

-
गर्म जल झरना /सोत /छ्वाया पर्यटन हेतु केवल गर्म जल छ्वाया /सोत ही आवश्यक नहीं अपितु अतिरिक्त सुविधाएँ व आकर्षण आवश्यक होती हैं। निम्न आकर्षण गर्म जल झरना पर्यटन के सहयोगी आकर्षण है
अ – अन्य पर्यटन कार्यकलाप
ट्रैकिंग , वन भ्रमण , साइकल भ्रमण , पहाड़ चढ़ाई , अन्य स्वास्थ्य महत्व के स्थल भ्रमण
ब -सांस्कृतिक पर्यटन
स्थानीय नृत्य , संगीत , नाटक , खेल
स – खरीददारी सुविधाएं
पर्यटक संबंधी वस्तुयें , दुकानें
स्थानीय सौगात , कला , तांत्रिक मांत्रिक आदि
द – संचार व्यवस्था
नेटवर्क , मोबाइल नेटवर्क , टेलीफोन आदि
ई -होटल्स व कैम्प्स सुविधा
एफ – परिहवन
सड़के , मोटर , कर , टैक्सी
जी – कुली आदि
एच – वैद्य – ऐलोपैथी डॉटर , अतिरिक्त प्राकृतिक चिकित्सा वैद्य
जे – सार्वजनिक शुचालय व स्नान घर
के – सूचना पट्टिकाएं , मार्ग दर्शक सूचनाएं , आकस्मिक दुर्घटना रोक थाम आदि सुविधा
एल – पुस्तक , स्थानीय इतिहास , भूगोल , सांस्कृति , पर्यटन सूचना सूचना साहित्य के अतिरिक्त प्राकृतिक स्वास्थ्य संबंधी साहित्य
एम – सुरक्षा
एन -मार्ग दर्शक

Copyright @Bhishma Kukreti, bjkukreti@gmail .com

Additional Attractions for Thermo spring Medical Tourism development in Garhwal , Uttarakhand ; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Chamoli Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Rudraprayag Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Pauri Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Tehri Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Uttarkashi Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Dehradun Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Haridwar Garhwal , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Pithoragarh Kumaon , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Champawat Kumaon , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Almora Kumaon , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Nainital Kumaon , Uttarakhand; Additional Attractions for Thermo Spring Medical Tourism development in Udham Singh Nagar Kumaon , Uttarakhand;

पौड़ी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; उधम सिंह नगर कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; चमोली गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; नैनीताल कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; रुद्रप्रयाग गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; अल्मोड़ा कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; टिहरी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; चम्पावत कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; उत्तरकाशी गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; पिथौरागढ़ कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास; देहरादून गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; रानीखेत कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास; हरिद्वार गढ़वाल मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; डीडीहाट कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण ; नैनीताल कुमाऊं मेडिकल टूरिज्म विकास हेतु गर्म जल झरनो हेतु अन्य पर्यटक आकर्षण :

Jan
13

हर्ष काल में उत्तराखडं , बिजनौर व सहारनपुर में जैन धर्म

Older posts «

» Newer posts

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.