Tag Archive: गढवाली नाटक

Feb
13

अद्भुत रस में प्रयुक्त होने वाले भाव : अद्भुत रसौ भाव

    अद्भुत रस में प्रयुक्त होने वाले भाव : अद्भुत रसौ   भाव  (गढवाल म खिल्यां नाटक आधारित  उदाहरण )    Sentiment  of the Rapture  ( इरानी , अरबी शब्दों क वर्जन प्रयत्न )     भरत नाट्य  शास्त्र  अध्याय – 6, 7 का : रस व भाव समीक्षा - s  = आधी अ भरत नाट्य शास्त्र …

Continue reading »

Feb
12

वीभत्स रस में प्रयुक्त भाव : बीभत्स रसौ भाव

वीभत्स रस में प्रयुक्त भाव :  बीभत्स रसौ भाव  (गढवाल म खिल्यां नाटक आधारित  उदाहरण )    Sentiments of the  Abhorrence Rapture  ( इरानी , अरबी शब्दों क वर्जन प्रयत्न )     भरत नाट्य  शास्त्र  अध्याय – 6, 7 का : रस व भाव समीक्षा - ७५ s  = आधी अ भरत नाट्य शास्त्र गढवाली अनुवाद  आचार्य …

Continue reading »

Feb
09

रौद्र रसम प्रयुक्त हूण वळ भाव

  रौद्र रसम प्रयुक्त हूण  वळ  भाव  (गढवाल म खिल्यां नाटक आधारित  उदाहरण )    Sentiment used in   Rapture  of Wrath  ( इरानी , अरबी शब्दों क वर्जन प्रयत्न )     भरत नाट्य  शास्त्र  अध्याय – 6, 7 का : रस व भाव समीक्षा - 72 s  = आधी अ भरत नाट्य शास्त्र गढवाली अनुवाद  आचार्य …

Continue reading »

Feb
03

वैवर्ण्य भाव अभिनय: वैवर्ण्य भावौ पाठ खिलण

वैवर्ण्य भाव अभिनय:  वैवर्ण्य भावौ पाठ खिलण  गढवाल म खिल्यां नाटक आधारित  उदाहरण Performing  Change of Facial Expression  Sentiment  in Garhwali Dramas  ( इरानी , अरबी शब्दों क वर्जन प्रयत्न )     भरत नाट्य  शास्त्र  अध्याय – 6, 7 का : रस व भाव समीक्षा - 66 s  = आधी अ भरत नाट्य शास्त्र गढवाली अनुवाद  आचार्य …

Continue reading »

Jan
20

उन्माद भाव अभिनय: उन्माद भावौ पाठ खिलण

उन्माद भाव अभिनय: उन्माद  भावौ पाठ खिलण  गढवाल म खिल्यां नाटक आधारित  उदाहरण Performing  Insanity   Sentiment  in Garhwali Dramas  ( इरानी , अरबी शब्दों क वर्जन प्रयत्न )     भरत नाट्य  शास्त्र  अध्याय – 6, 7 का : रस व भाव समीक्षा - 56 s  = आधी अ भरत नाट्य शास्त्र गढवाली अनुवाद  आचार्य  – भीष्म कुकरेती  …

Continue reading »

Older posts «

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.