Tag Archive: bijnor History

Aug
20

गुप्त काल में धार्मिक विश्वास प्रचलन

गुप्त काल में धार्मिक विश्वास प्रचलन Religious Beliefs and Practices in Gupta Era in context History of Haridwar, Bijnor, Saharanpur हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 245 इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती गुप्त काल में पुराणों का पुनर्लेखन व संकलन हुआ। मंदिरों में पुराण कथा वाचन एक …

Continue reading »

Aug
19

हरिद्वार , बिजनौर , सहारनपुर इतिहास संदर्भ में गुप्त काल में सार्वजनिक देव स्थलों में पूजा

हरिद्वार , बिजनौर , सहारनपुर इतिहास संदर्भ में गुप्त काल में सार्वजनिक देव स्थलों में पूजा Worshipping in Public Place in Gupta Era in context History of Haridwar, Bijnor, Saharanpur हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 244 इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती गुप्त काल में सार्वजनिक मंदिरों …

Continue reading »

Aug
18

हरिद्वार , बिजनौर , सहारनपुर इतिहास संदर्भ में गुप्त काल में सूर्य उपासना

हरिद्वार , बिजनौर , सहारनपुर इतिहास संदर्भ में गुप्त काल में सूर्य उपासना Sun Worshiping in Gupta Era in context History of Haridwar, Bijnor, Saharanpur हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 243 इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती पिछले साम्राज्यों की तर्ज पर गुप्त काल में भी सूर्य …

Continue reading »

Aug
16

गुप्त काल में शाक्त पंथ या शक्ति पूजा

गुप्त काल में शाक्त पंथ या शक्ति पूजा Shakt Sect in Gupta Era in context History of Haridwar, Bijnor, Saharanpur हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 242 इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती शक्ति पूजा विभिन्न नामों से की जाती रही है जैसे – भगवती , भवानी , …

Continue reading »

Aug
15

गुप्त काल में शैव्य संबंधी देवी देवता

गुप्ता काल में शैव्य संबंधी देवी देवता Gods -Goddesses related to Shaivism in Gupta Era in context History of Haridwar, Bijnor, Saharanpur हरिद्वार इतिहास , बिजनौर इतिहास , सहारनपुर इतिहास -आदिकाल से सन 1947 तक-भाग – 241 इतिहास विद्यार्थी ::: भीष्म कुकरेती गुप्त काल में कार्तिकेय का शैव्य पंथ के प्रमुख देवताओं में प्रमुख स्थान …

Continue reading »

Older posts «

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.