Tag Archive: गढ़वाली हास्य व्यंग्य

Aug
22

प्याज ! त्यार कथगा रूप ?

प्याज ! त्यार कथगा रूप ? चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती इतिहास बतांदो बल मनिख पांच हजार साल पैल प्याज खाण सीखि गे छौ । इतियासकार बुल्दन बल सबसे पैल पाकिस्तान अर इरान मा प्याजै खेती पवाण लग । चीन मा पांच हजार साल पैल प्याजौ सग्वड़ हॊन्दा छा । पुरण जमन मा यूनानी (ग्रीक ) …

Continue reading »

Aug
20

तेरा हजार की मौज अर तेरा सौ कु फटका

तेरा हजार की मौज अर तेरा सौ कु फटका चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती सि महेन्दर जब बि गाँ या कखि जात्रा मा जावो त नि बि ह्वावू त साल भर तक अपण जात्रौ समळौण सब्युं तैं सुणाणु रौंद । अर अपण जात्रा दगड़ विज्ञापनों जन एक स्लोगन या एक नारा चिपटांद नि बिसरद । जन …

Continue reading »

Aug
17

तंबाकू ब्यापार्युं हड़ताल

तंबाकू ब्यापार्युं हड़ताल चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती प्रजातंत्र मा सरीफ मनिख जैकि जमीन जायजाद लुठे जावो वो रावो या नि रावो पण धुर्या मनिख को गलत सलत कामौ अधिकार पर जरा ठेस लगदी तो वो इन तड़कद जन बुल्यां ऐटम बम फुटि गे हो धौं । ब्याळि महाराष्ट्र का तमsखु बिचण व़ाळुन हड़ताल त्यौहार मनायि …

Continue reading »

Aug
16

सन 2100 ई . मा सम्पादकीय टिप्पणी

सन 2100 ई . मा सम्पादकीय टिप्पणी भोळ दिख्वा : भीष्म कुकरेती ब्याळि सुपिनम मीन सन 2100 को एक क्षेत्रीय अखबारौ सम्पादकीय पौढ़ – आज गढ़वाळि-कुमाऊंनी समाज एक संक्रमण काल से गुजरणु च। समाज मा अर संस्कृति मा नई नई कुरीति ऐ गेन अर सरकार अर हमारा बुद्धिजीवी तमाशा दिखणा छन । क्या सुंदर हमर …

Continue reading »

Aug
14

गरीब -गुरबों-दलितों रामायण मा बाल-कांड की जगा भेदभाव काण्ड

गरीब -गुरबों-दलितों रामायण मा बाल-कांड की जगा भेदभाव काण्ड चबोड़्या -चखन्यौर्या -भीष्म कुकरेती मी सुचणु छौ बल रामायण या महाभारत मा जु बि मुख्य कथा छन वो राजा , राजकुमार या राजकुमार्युं मुतालिक ही छन अर बडो मिजाज , बड़ो हिसाब ही यूँ महाकाव्यों मा च I यदि वाल्मीकि कई गरीब पर या हरिजन आधारित …

Continue reading »

Older posts «

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.