Tag Archive: Garhwali Humor

Oct
04

इंटरनेट , टीवी अर अखबार बिटेन दूर याने हनीप्रीतै गंदगी बटें छुटकारु

इंटरनेट , टीवी अर अखबार बिटेन दूर याने हनीप्रीतै गंदगी बटें छुटकारु (Best of Garhwali Humor , Wits Jokes , गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ) – चबोड़ , चखन्यौ , ककड़ाट ::: भीष्म कुकरेती सि पांच छै दिन बटें मि अपण भतीजो नयो फ़्लैट शिफ्टिंग मा व्यस्त रौं त कसम से मस्त रौं। असली रामै …

Continue reading »

Sep
29

विरोधी विरुद्ध गुवाण जन नेगेटिव विज्ञापन

विरोधी विरुद्ध गुवाण जन नेगेटिव विज्ञापन (Best of Garhwali Humor , Wits Jokes , गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ) – चबोड़ , चखन्यौ , ककड़ाट ::: भीष्म कुकरेती ” हैलो ! इज इट नेगेटिव एजेंसी ?” नेतान पूछ। ” यस ! नेगेटिव ऐडवर्टाइजमेंट ऐंड पब्लिक रिलेसन एजेंसी। वेलकम ” जबाब छौ। “जी ! नाम अर …

Continue reading »

Sep
18

भुंदरा बौ उवाच (जोक्स, हंसुड़ी , हँसिकाएँ ) -भाग 24

भुंदरा बौ उवाच (जोक्स, हंसुड़ी , हँसिकाएँ ) -भाग 24 अनुवाद अर संकलन – भीष्म कुकरेती – १- मंदिरुं मा प्रवेश मुफ्त हूंद फिर बि खाली हूंदन त पब मा प्रवेश फीस लगद अर सब हॉउसफुल रौंदन। मनिख आंतरिक शान्ति की जगा आत्म विणास पर खर्चा करदो। २- मनिख अर बखर मा क्या अंतर हूंद …

Continue reading »

Sep
11

क्या मुझे गढ़वाली में गजल लिखनी चाहिए ?

क्या मुझे गढ़वाली में गजल लिखनी चाहिए ? (Best of Garhwali Humor , Wits Jokes , गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ) – चबोड़ , चखन्यौ , ककड़ाट ::: भीष्म कुकरेती घरवळि – मिंया ! तुम ना कबि बि वक्तक मुताबिक़ काम नि करदा। मि -क्या मतबल ? घरवळि – या त बगत से पैल करदा …

Continue reading »

Aug
25

हंसै नि सकदा त हौंसि ल्यावो

हंसै नि सकदा त हौंसि ल्यावो (Best of Garhwali Humor , Wits Jokes , गढ़वाली हास्य , व्यंग्य ) – चबोड़ , चखन्यौ , ककड़ाट ::: भीष्म कुकरेती खितखिताट हार्ट अटैको घोर दुसमन च , जोरदार हंसी हृदय आघात कु घनघोर शत्रु च , जोर की हंसी से झुर्री नि पड़दन जल्दी । जु तुम …

Continue reading »

Older posts «

Copy Protected by Chetans WP-Copyprotect.